Students’ Meet on Changing Trends in Delhi and Other Prestigious University
December, 2017
DLF School Paves Way for International Partnership in Education with Taiwan
December, 2017

दिल्ली और अन्य प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में बदलते रुझान पर छात्रों की बैठक |

डी.एल.एफ. पब्लिक स्कूल का मानना ​​है कि कैरियर का निर्णय परिस्थितियों पर निर्भर नहीं अपितु ये स्वयं का निर्णय होना चाहिए| 20 दिसंबर, 2017 को कक्षा XI-XII के छात्रों की कैरियर विकास की कार्यशाला सम्पन्न हुई| 850 छात्रों, अभिभावकों और गाजियाबाद के स्कूल के शिक्षकों की एक व्यावहारिक वर्कशॉप ‘मार्गदर्शक 2017’ का आयोजन विशेषज्ञों की टीम के साथ सम्पन्न हुआ|

इसमें परिवर्तनकारी समय में उभरते हुए कैरियर अवसरों की खोज  के विषय में विस्तार से चर्चा हुई | कार्यशाला का उद्देश्य था कि प्रत्येक छात्र अपनी अनूठी ताकत, कौशल और क्षमताओं को पहचाने  ताकि उच्च शिक्षा और कैरियर के अवसरों के बारे में सटीक निर्णय लेने में सक्षम हो सके, साथ ही साथ  दिल्ली विश्वविद्यालय में परिवर्तन और बाहर के विकल्पों के बारे में हर किसी को सूचित करना था |

दिल्ली विश्वविद्यालय के डिप्टी डीन डॉ. जी. एस. टुटेजा ने छात्रों को प्रवेश प्रक्रिया, मानदंड, नए पाठ्यक्रम, शिक्षा के नए पैटर्न के बारे में भी जानकारी दी | उन्होंने विशिष्ट पाठ्यक्रमों के लिए सबसे अच्छे 4 विषयों की गणना के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

काउंसलर और शिक्षाविद् श्री जितिन चावला जी ने कैरियर को चुनने से जुडी कई गलत धारणाओं को स्पष्ट किया और साथ ही इस बात पर ज़ोर दिया कि कैरियर का अन्वेषण बहुत महतवपूर्ण हैं | उन्होंने  कहा कि छात्रों को आईपी विश्वविद्यालय और जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय जैसे नए आगामी विश्वविद्यालयों का प्रयास करना चाहिए क्योंकि उनका दृष्टिकोण अधिक उदार और बाजार उन्मुख है, जो डीयू के पारंपरिक दृष्टिकोण के विपरीत हैं।

इंडियन स्कूल ऑफ होस्पिटलिटी के डीन अकादमिक श्री राजीव कॉवासजी ने भी विभिन्न आकर्षक कैरियर विकल्प साझा किए जो कि भारत और विदेशों में उपलब्ध हैं।

कार्यशाला से यह सीख मिली कि माता-पिता की भागीदारी और पारस्परिक सहमति प्रभावी धारा या कैरियर को चुनना भविष्य के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

Contact Us
Address:
Sector -II, Rajendra Nagar, Sahibabad, Ghaziabad. 201005 (U.P.)